विप्रो में 7% की गिरावट! रिलायंस ने दिखाई ताकत, अमेरिकी CPI डेटा की प्रतीक्षा – पोस्ट मार्केट एनालिसिस

Home
market
wipro-falls-7-reliance-showing-some-strength-us-cpi-data-post-market-analysis
undefined

निफ्टी 36 पॉइंट्स के गैप-डाउन के साथ 17,087 पर खुला। ओपनिंग के बाद इंडेक्स 155+ पॉइंट्स गिर गया, लेकिन 16,950 गिरावट को रोकने के लिए पर्याप्त था। भारी उतार-चढ़ाव के साथ, उस समय से निफ्टी में नरमी आई। निफ्टी 109 पॉइंट्स या 0.64% की गिरावट के साथ दिन के 17,014 पर बंद हुआ।

बैंक निफ्टी ने दिन की शुरुआत 160 पॉइंट्स के गैप-डाउन के साथ 38,957 पर की। पहले 30 मिनट के दौरान इंडेक्स 39,000 के करीब रहा, लेकिन 38,900 के टूटने के बाद इसमें तेज गिरावट देखी गई। भले ही बैंक निफ्टी 38,500 से नीचे गिर गया, लेकिन बैंक निफ्टी के 38,500 पर पहुंचने पर HDFC बैंक ने पहले ही रिकवरी शुरू कर दी थी। बैंक निफ्टी 406 पॉइंट्स या 1.05% ऊपर 39,118 पर बंद हुआ।

निफ्टी बैंक (-1.2%), निफ्टी फिनसर्व (-1.2%), निफ्टी PSU बैंक (-1.5%) और निफ्टी रियल्टी (-0.99%) सबसे ज्यादा नीचे चले गए। अन्य सभी मिले-जुले बंद हुए।

प्रमुख एशियाई बाजार लाल निशान में बंद हुए। यूरोपीय बाजार अब फ्लैट से हरे रंग में कारोबार कर रहे हैं।

प्रमुख गतिविधियां -

HCL Tech(+3.1%) निफ्टी 50 टॉप गेनर के रूप में बंद हुआ, जिसने अपने कंसोलिडेटेड नेट प्रॉफिट में 3,489 करोड़ रुपये के साथ  6% की बढ़त पोस्ट की है।

Wipro(-7%) Q2 आय अनुमान से चूकने के कारण नीचे गिर गया और निफ्टी 50 टॉप लूजर के रूप में बंद हुआ।

Tata Teleservices (+5%) छोटे और मध्यम व्यवसायों के लिए Google वर्कप्लेस की पेशकश करने के लिए Google के साथ साझेदारी के बाद 5% अपर सर्किट में बंद हुआ।

एल्युमीनियम उत्पादक - Hindalco (+0.4%), National Aluminium (+2.5%) और Vedanta (+1.8%) अमेरिका द्वारा रूसी एल्युमीनियम पर आयात प्रतिबंध लगाने की रिपोर्ट पर हरे निशान में बंद हुए।

महाराष्ट्र सीमलेस (+4.7%) बढ़ा और बोनस इश्यू प्लान पर 52-सप्ताह के नए उच्च स्तर पर पहुंच गया। 

RITES (+10.5%) ने बैंगलोर मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन से 499.41 करोड़ रुपये का ऑर्डर हासिल किया।

Tanla (+3.6%) ने 25 अक्टूबर, 2022 को प्रस्तावित बायबैक के लिए रिकॉर्ड डेट के रूप में तय करने के बाद बढ़त हासिल की।

SBIN (-2.3%), SBI Life (-2%) और SBI Cards (-1.4%) लाल निशान में बंद हुए।

आगे का अनुमान -

अनिश्चितता अभी भी जारी!

कल भारत का सितंबर मुद्रास्फीति डेटा अगस्त में 7.00% के मुकाबले 7.41% पर दर्ज किया गया था। यह आकड़े RBI को ब्याज दरों में और अधिक आक्रामक तरीके से बढ़ोतरी करने के लिए मजबूर करेंगे।

दोपहर 12:00 बजे तक निफ्टी नीचे जा रहा था, लेकिन वहीं से इसमें बदलाव का रुख दिखा। भले ही यह अस्थिरता के साथ था, लेकिन इसने ऊंचा चढ़ाव बनाना शुरू कर दिया। बैंक निफ्टी ने भी 38,500 के स्तर को छूने के बाद इसी तरह के पैटर्न का पालन किया।

भले ही फिन निफ्टी आने वाले दिनों में ठीक हो जाए, लेकिन इसे 17,600 के स्तर से ऊपर भारी रेजिस्टेंस का सामना करना पड़ सकता है।

TCS के नतीजे अच्छे रहे, लेकिन विप्रो ने हमें निराश कर दिया। इंफोसिस शेयर बायबैक फैसलों के साथ Q2 रिजल्ट्स पोस्ट करेगा। (अपडेट: इंफोसिस ने Q2 आय अनुमान से बेहतर पोस्ट किया। साथ ही 9300 करोड़ रुपये में 1850 / शेयर पर शेयर बायबैक को मंजूरी दी।)

रिलायंस कल से निफ्टी को भारी गिरावट से बचा रहा है और कुछ ताकत Jio की अच्छी खबरों और 2360 के आसपास तकनीकी सपोर्ट के कारण है।

जर्मनी ने भी उच्च मुद्रास्फीति डेटा पोस्ट किया। लेकिन यह स्पष्ट है, कि पूरा ग्लोबल बाजार अमेरिकी CPI डेटा की प्रतीक्षा कर रहे हैं।

अमेरिकी CPI आज होने की उम्मीद है और कभी-कभी अमेरिकी बाजार एक दिन के बाद ही इन आंकड़ों पर प्रतिक्रिया देते  हैं।

दीपावली का माहौल बस कुछ ही दिन दूर है। आपको क्या लगता है, की इस सीजन में कौन सी लिस्टेड कंपनियों को फायदा होने वाला है? अपने जवाब कमेंट सेक्शन में शेयर करें।

Post your comment

No comments to display

    Full name
    WhatsApp number
    Email address
    * By registering, you are agreeing to receive WhatsApp and email communication
    Upcoming Workshop
    Join our live Q&A session to learn more
    about investing in
    high-risk, high-return trading portfolios
    Automated Trading | Beginner friendly
    Free registration | 30 minutes
    Saturday, December 9th, 2023
    5:30 AM - 6:00 AM

    Honeykomb by BHIVE,
    19th Main Road,
    HSR Sector 3,
    Karnataka - 560102

    linkedIntwitterinstagramyoutube
    Crafted by Traders 🔥© marketfeed 2023